श्रीमद् भागवतम
शब्द आकार

भागवत पुराण  »  स्कन्ध 10: परम पुरुषार्थ  »  अध्याय 63: बाणासुर और भगवान् कृष्ण का युद्ध  »  श्लोक 8

 
श्लोक
कुम्भाण्डकूपकर्णाभ्यां बलेन सह संयुग: ।
साम्बस्य बाणपुत्रेण बाणेन सह सात्यके: ॥ ८ ॥
 
शब्दार्थ
कुम्भाण्ड-कूपकर्णाभ्याम्—कुम्भाण्ड तथा कूपकर्ण द्वारा; बलेन सह—बलराम के साथ; संयुग:—युद्ध; साम्बस्य—साम्ब का; बाण-पुत्रेण—बाण के पुत्र के साथ; बाणेन सह—बाण के साथ; सात्यके:—सात्यकि का ।.
 
अनुवाद
 
 बलरामजी ने कुम्भाण्ड तथा कूपकर्ण से, साम्ब ने बाण-पुत्र से और सात्यकि ने बाण से युद्ध किया।
 
____________________________
 
All glories to saints and sages of the Supreme Lord
हरे कृष्ण हरे कृष्ण कृष्ण कृष्ण हरे हरे। हरे राम हरे राम राम राम हरे हरे॥