श्रीमद् भागवतम
शब्द आकार

भागवत पुराण  »  स्कन्ध 12: पतनोन्मुख युग  » 

 
 
अध्याय 1:  कलियुग के पतित वंश
 
अध्याय 2:  कलियुग के लक्षण
 
अध्याय 3:  भूमि गीत
 
अध्याय 4:  ब्रह्माण्ड के प्रलय की चार कोटियाँ
 
अध्याय 5:  महाराज परीक्षित को शुकदेव गोस्वामी का अन्तिम उपदेश
 
अध्याय 6:  महाराज परीक्षित का निधन
 
अध्याय 7:  पौराणिक साहित्य
 
अध्याय 8:  मार्कण्डेय द्वारा नर-नारायण ऋषि की स्तुति
 
अध्याय 9:  मार्कण्डेय ऋषि को भगवान् की मायाशक्ति के दर्शन
 
अध्याय 10:  शिव तथा उमा द्वारा मार्कण्डेय ऋषि का गुणगान
 
अध्याय 11:  महापुरुष का संक्षिप्त वर्णन
 
अध्याय 12:  श्रीमद्भागवत की संक्षिप्त विषय-सूची
 
अध्याय 13:  श्रीमद्भागवत की महिमा
 
____________________________
 
All glories to saints and sages of the Supreme Lord
हरे कृष्ण हरे कृष्ण कृष्ण कृष्ण हरे हरे। हरे राम हरे राम राम राम हरे हरे॥